मंजिले बहुत है और अफ़साने भी बहुत है

मंजिले बहुत है और अफ़साने भी बहुत है, जिंदगी की राह में
इम्तिहान भी बहुत है,
मत करो दुःख उसका जो कभी मिला नही, दुनिया में खुश रहने
के बहाने भी बहुत है।